धान के विकल्प में मक्का


मक्का कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्रोत है। यह आदमी और मवेशी दोनों के लिए फायदेमंद है। उद्योगों के लिए भी मक्का बहुत महत्वपूर्ण है। इसे रोटी, भुट्टे, कॉर्नफ्लेक्स, पॉपकॉर्न, कॉर्ड ऑयल के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।


 । यह जैव ईंधन के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। लगभग 65% मक्का का उपयोग पोल्ट्री जानवरों को खिलाने के लिए किया जाता है। उद्योगों में इसका उपयोग प्रोटीनक्स, चॉकलेट, स्याही, में किया जाता है।
कोका कोला के लिए पेंट्स, लोशन, कॉर्न सिरप। बेबीकोर्न उच्च प्रदर्शन वाली सब्जी है।

अन्य फसलों की तुलना मे मक्का (Maize) अल्प समय में पकने और अधिक पैदावार देने वाली फसल है| अगर किसान भाई थोड़े से ध्यान से और आज की तकनीकी के अनुसार खेती करे, तो इस फसल की अधिक पैदावार से अच्छा मुनाफा ले सकते है


मक्का हेतु जलवायु

मक्का की खेती विभिन्न प्रकार की जलवायु में की जा सकती है, परन्तु उष्ण क्षेत्रों में मक्का की वृद्धि, विकास एवं उपज अधिक पाई जाती है| यह गर्म ऋतु की फसल है| इसके जमाव के लिए रात और दिन का तापमान ज्यादा होना चाहिए| मक्के की फसल को शुरुआत के दिनों से भूमि में पर्याप्त नमी की आवश्यकता होती है| जमाव के लिए 18 से 23 डिग्री सेल्सियस तापमान एवं वृद्धि व विकास अवस्था में 28 डिग्री सेल्सियस तापमान उत्तम माना गया है|
उपयुक्त भूमि

मक्का की खेती सभी प्रकार की भूमि में की जा सकती है| परंतु मक्का की अच्छी बढ़वार और उत्पादकता के लिए दोमट एवं मध्यम से भारी मिट्टी जिसमें पर्याप्त मात्रा में जीवांश और उचित जल निकास का प्रबंध हो, उपयुक्त रहती है| लवणीय तथा क्षारीय भूमियां मक्का की खेती के लिए उपयुक्त नहीं रहती|

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां