उतर भारत के कई क्षेत्रों में ओलावृर्ष्टि को लेकर अलर्ट ।

Spread the love

Advertisement

हल्के पश्चिमी विक्षोंभ और दिन में बढ़ते तापमान और हवा में मौजूद नमी के कारण दक्षिण पंजाब में और उत्तर पश्चिमी हरियाणा के हिस्सों में सक्रीय बादलों का निर्माण हो रहा है, सिरसा और कुरुक्षेत्र के हिस्सों में तेज़ हवाओं के साथ तेज़ बारिश देखने को मिली है। वहीं अब बादल दक्षिण पूर्वी दिशा में बड़ रहे हैं लेकिन उनकी रफ्तार ना मात्र सी है लेकिन नए बादल विकसित होने की संभावना भी है। वहीं दूसरी ओर राजस्थान में भी ताज़ा बादलों का निर्माण हो रहा है।
आने वाले 2-4 घंटे में या आज देर शाम तक:-

Advertisement

हरियाणा के सिरसा, फतेहबाद, कैथल, नरवाना, आदमपुर ,हिसार, कुरुक्षेत्र, करनाल, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, रोहतक, झज्जर, जींद, सहित दिल्ली एनसीआर के एक दो हिस्सों में 30-50 किलोमीटर प्रति घंटे के रफ्तार की हवा चल सकती है साथ ही हल्की से मध्यम बारिश तो कुछ स्थानों पर तेज़ बारिश हो सकती है।

राजस्थान के पिलानी, झुंझनु, सीकर, अलवर, भरतपुर, जालोर, सिरोही, उदयपुर, पाली, राजसमंद, भीलवाड़ा, चितौड़गढ़, कोटा, बूंदी, अजमेर, झालावाड़ के हिस्सों में भी तेज़ हवाओं के साथ हल्की तो मध्यम बारिश तो कहीं कहीं तेज़ बारिश दर्ज की जाएगी।

🔺हरियाणा और राजस्थान के छिटपुट क्षेत्रों में ओलावृष्टि भी दर्ज की जा सकती है।

Movement of Southwest Monsoon

दक्षिण-पश्चिम मॉनसून तमिलनाडु के शेष हिस्सों, पश्चिम बंगाल के कुछ और हिस्सों और उत्तरी खाड़ी में आगे बढ़ा है; मिजोरम और मणिपुर और त्रिपुरा के अधिकांश हिस्से और असम और नागालैंड के कुछ हिस्से।
Mon मॉनसून की उत्तरी सीमा (NLM) अब Lat.14 ° N / Long.60 ° E, Lat.14 ° N / Long.70 ° E, करवार, शिमोगा, तुमकुरु, चित्तूर, पोंनेरी, 18 ° N / से होकर गुजरती है Long.85 ° E, Lat.22 ° N / Long.90 ° E, अगरतला, कोहिमा और Lat.26 ° N / Long.95 ° E।
मध्य अरब सागर, गोवा के कुछ और हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल होती जा रही हैं; महाराष्ट्र के कुछ हिस्से; कर्नाटक और रायलसीमा के कुछ और हिस्से; तेलंगाना और तटीय आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्से; बंगाल के मध्य और उत्तरी खाड़ी के कुछ और हिस्से और अगले 48 घंटों के दौरान पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ और हिस्से।
So महाराष्ट्र के कुछ और हिस्सों में दक्षिण पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ बाद में अनुकूल होने की संभावना है; कर्नाटक के शेष हिस्सों, तेलंगाना, रायलसीमा, तटीय आंध्र प्रदेश, बंगाल की खाड़ी और पूर्वोत्तर राज्यों, पूरे सिक्किम और बाद के 24 घंटों के दौरान ओडिशा और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्से।

Source- IMD


Spread the love

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *