किसान पुञों की मेहनत से आज ट्विटर पर ट्रैंड कर रहा है ‘कर्जा मुक्ति पुरा दाम’

Spread the love
  • 118
    Shares

Advertisement
 

कर्जा मुक्ति पुरा दाम

टि्वटर पर 2 घंटे छाई रही किसान कर्जा मुक्ति मुहिम।  लोक डाउन के इस दौर में लगातार कर्ज के बोझ में दबते रहे किसान नेअपनी आवाज को उठाने के लिए सोशल मीडिया की प्लेटफॉर्म का दूसरी बार सहारा लिया।

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की पहल पर 6 जून शाम को 4:00 बजे से लेकर 6:00 बजे तक देशभर के किसान संगठनों ने ट्विटर पर किसान कर्जा मुक्ति हेज टेक के साथ ट्वीट किया दूसरी बार ऑनलाइन और ट्विटर पर आया देश का किसान 2 घंटे तक ट्विटर पर अपने इस हेश टैंक के साथ छाया रहा |
सभी संगठन ने इसमें भाग लिया इस अभियान के साथ देशभर में एक साथ एक लाख से अधिक टियुट किए गए नई पीढ़ी के इन किसानों ने देश के पूंजी पतियों की तर्ज पर किसानों को भी कर्ज से राहत देने की मांग की है ताकि किसानों को आत्महत्याओं का सिलसिला रुक सके |

Advertisement

 सान सालों से कर्ज की चक्की में पीस रहा है और मर रहा है सरकारें बार-बार देश के पूंजीपतियों के करोड रुपए के कर्ज को राइट ऑफ कर रहे हैं जबकि देशभर के किसानों पर कुल कर्ज 6 लाख करोड रुपए का है किसान इस कर्ज के बोझ से मर रहा है और सरकारें मरे हुए किसान से भी कर्ज वसूल रही है इसके विपरीत व्यापारी कर्ज लेकर विदेशों में बस रहे हैं |


पहली बार ऐसा हुआ है कि देश भर के किसान संगठनों में एक मिलकर यह मुहिम चलाई है।   किसानों की नई पीढ़ी जागरूक हो रही है | अब बोलने वाले किसान की नई पीढ़ी जागरूक हो गई है वह अपने पूर्वजों के दर्द को समझ रही है

Also Read This

स्ट्राबेरी की खेती के बारे में पुरी जानकारी । जलवायु, मिट्टी से लेकर कमाई तक सब यहीं

इसी का परिणाम यह है कि दूसरी बार ट्विटर पर चलाए गए इस कर्ज माफी अभियान में देशभर से लोग जुड़े हुए हैं क्योंकि लोक डाउन के चलते किसान सड़कों पर निकलकर आंदोलन नहीं कर सकते ऐसे में अब सोशल मीडिया पर आवाज उठाई है सरकार को चाहिए कि किसानों की सुनाई करें एवं किसान को संपूर्ण कर्ज से मुक्त करें।

कर्जा मुक्ति पुरा दाम

Ramandeep Maan नें कहा

2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए, दलवाई समिति के अनुसार, किसान की वास्तविक  धनराशि में 10.4% / वर्ष की वृद्धि होनी चाहिए, जो कि पिछले 5 वर्षों में 2.5% से कम बढ़ रही है, पूछने की दर 15% तक पहुंच गई है

To double #farmer income by 2022, acc to Dalwai committee, real #income of farmer, should increase by 10.4%/year, which has been increasing less than 2.5% in last 5 years,the asking rate has reached 15%

 

To achieve this target, #कर्जा_मुक्ति_पूरा_दाम is the only way out @PMOIndia pic.twitter.com/svjieBGxif

— Ramandeep Singh Mann (@ramanmann1974) June 6, 2020

 हरियाण में उत्पादन लागत न्यूनतम समर्थन मूल्य से अधिक है

कर्जा मुक्ति पुरा दाम

RTI 2018-19

Paddy
उत्पादन की लागत = 2637 / क्विंटल
न्यूनतम समर्थन मूल्य = 1750 / क्यूटी

Wheat
उत्पादन लागत = 2074 / क्विंटल
एमएसपी = 1840 / क्यूटी

Cotton
उत्पादन लागत = 6280 / क्यूटी
एमएसपी = 5450 / क्यूटी

इसीलिए कर्जा मुक्ति पुरा दाम

 

Production Costs in #Haryana are more than Min Support Price#RTI 2018-19#Paddy
Cost of production=Rs 2637/quintal
Min Support Price=1750/qt#Wheat
Cost of production=Rs 2074/quintal
MSP=1840/qt#Cotton
Production cost=Rs 6280/qt
MSP=5450/qt

 

Thats why #कर्जा_मुक्ति_पूरा_दाम pic.twitter.com/ImHIx1ogkj

— Ramandeep Singh Mann (@ramanmann1974) June 6, 2020

कर्जा मुक्ति पुरा दाम

अभिषेक रघुवंशी नें कहा
तब तक पूर्ण खरीद या कानून की तरह एमएसपी वितरण तंत्र की गारंटी जब तक नीचे एमएसपी व्यापार के प्रभाव में नहीं आने देता है, एमएसपी की घोषणा व्यर्थ है।

दिशा मीणा नें कहा

पंजाब देश की रोटी की टोकरी, पिछले कुछ वर्षों में किसान आत्महत्याओं के केंद्र में बदल गया है। केवल समाधान # कर्जामुक्तिपुरा_दाम है

कर्जा मुक्ति पुरा दाम

Punjab the bread basket of the country, has turned into a hotbed of farmer suicides over the years . Only solution is #कर्जा_मुक्ति_पूरा_दाम @BJP4India pic.twitter.com/XsPCH7FnS6

— Disha Meena (@D_Tribal_) June 6, 2020

If @BJP4India is Committed about double #farmer’s income by 2022 as said by Our Respected PM @narendramodi81 ji
Then the Only Solition is #कर्जा_मुक्ति_पूरा_दाम pic.twitter.com/JqOzN7eszX

— Abjinder Sangha (@AbjinderSangha) June 6, 2020

Trade increases the wealth and glory of a country; but its real strength and stamina are to be looked for among the cultivators of the land.” – William Pitt

 

Are we doing justice to our farmers ?

Let’s all stand together and be the voice for them . #कर्जा_मुक्ति_पूरा_दाम pic.twitter.com/YeL3Tc2OQq

— Bhupender Chaudhary (@bhupenderc19) June 6, 2020

कर्जा मुक्ति पुरा दाम


Spread the love
  • 118
    Shares

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *