बांस की खेती के लिए सरकार देगी आधी लागत ,लाखों की होगी कमाई

Spread the love
  • 1K
    Shares

किसानों के लिए खुशखबरी- बांस की खेती के लिए आधे पैसे देगी सरकार, लाखों की होगी कमाई

मोदी सरकार ने साल 2018 में बांस को पेड़ की कैटेगरी से हटा दिया है. अब आप बिना किसी परेशानी के बांस की खेती कर सकते हैं. हालांकि आपको अनुदान सिर्फ अपनी खुद की जमीन पर ही मिलेगा।. जो फॉरेस्ट जमीन पर बांस हैं उन पर यह छूट नहीं है. वहां पर वन कानून लागू होगा.
इस योजना को नेशनल बैंबू मिशन नाम दिया गया है।. नेशनल बैंबू मिशन के तहत आप बांस की खेती कर लाखों कमा सकते हैं. अगर बैंबू मिशन के तहत आप बांस की खेती करते हैं तो आपको प्रति पौधा 120 रुपए पौधे के रखरखाव के लिए सरकार की ओर से दिए जाएंगे.

आइए जानते हैं कैसे शुरू कर सकते हैं बांस की खेती.

पहले तय करें कि किस काम के लिए लगा रहे हैं बांस

सरकारी नर्सरी से बांस की पौध किसान भाईयों को फ्री मिलेगी. बांस की 136 प्रजातियां हैं. अलग-अलग काम के लिए अलग-अलग बांस की किस्में इस्तेमाल की जाती हैं।. लेकिन उनमें से 10 किस्मों का इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता आ रहा है. आप किस काम के लिए बांस लगा रहे हैं,यह जानकर ही बांस की किस्म का चयन करें। अगर फर्नीचर के लिए लगा रहे हैं तो संबंधित प्रजाति का चयन करना होगा.

कितने साल में तैयार होती है खेती?

बांस की खेती लगभग तीन से चार साल में तैयार हो जाती है. चौथे साल में किसान भाई बांस की कटाई शुरू कर सकते हैं. चूंकि इसके पौधों के बीच की दुरी तीन से चार मीटर तक होती है इसलिए इसके बीच की जगह पर आप कोई और फसल भी उगा सकते हैं. इसकी पत्तियों को पशुओं के चारे के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता हैं. अगर किसान भाई बांस लगाएंगे तो फर्नीचर के लिए बाकी पेड़ों की कटाई कम होगी. इससे आप पर्यावरण रक्षा भी कर सकेंगे. अभी हम काफी फर्नीचर चीन से मंगा रहे हैं, जोकि भारतीय अर्थव्यवस्था के काफी फायदेमंद रहेगा। इसलिए आप इसकी खेती से चीन पर निर्भरता कम कर सकते हैं और भारत आत्मनिर्भर बन सकता है।

किसान को कितनी सरकारी मदद मिलेगी?

तीन साल में तकरीबन 240 रुपये प्रति पेड की लागत आएगी. जिसमें से 120 रुपये प्रति पेड सरकारी मदद मिलेगी. नार्थ ईस्ट को छोड़कर अन्य क्षेत्रों में इसकी खेती के लिए 50 फीसदी सरकार और 50 फीसदी किसान लगाएगा. 50 फीसदी सरकारी शेयर में 60 फीसदी केंद्र सरकार और 40 फीसदी राज्य की हिस्सेदारी होगी. जबकि नार्थ ईस्ट में 60 फीसदी सरकार और 40 फीसदी किसान लगाएगा. 60 फीसदी सरकारी पैसे में 90 फीसदी केंद्र सरकार और 10 फीसदी राज्य सरकार का शेयर होगा. जिले में इसका नोडल अधिकारी आपको पूरी जानकारी दे देगा.

बांस की खेती से कितनी होगी कमाई?

जरूरत और प्रजाति के हिसाब से एक हेक्टेयर में 1500 से 2500 पौधे लगा सकते हैं. अगर आप 3 ×2.5 मीटर पर पौधा लगाते हैं तो एक हेक्टेयर में करीब 1500 पेड लग जाएंगे। साथ में आप दो पौधों के बीच में बची जगह में दूसरी फसल उगा सकते हैं और उससे भी आप कुछ आमदनी कमा सकते हैं। 4 साल बाद बांस की खेती से 3 से 3.5 लाख रुपए की कमाई होने लगेगी। हर साल दोबारा पौधे लगाने की जरूरत नहीं पडेगी क्योंकि बांस की पौध करीब 40 साल तक चलती है.

दूसरी फसलों के साथ खेत की मेड़ पर अगर  4 × 4 मीटर पर यदि आप बांस लगाते हैं तो एक हेक्टेयर में चौथे साल से करीब 30 हजार रुपए की कमाई होने लगेगी. इसकी खेती किसान का रिस्क फैक्टर कम करती है. क्योंकि किसान बांस के बीच दूसरी खेती भी कर सकता है.

बांस से क्या बना सकते हैं आप?

बांस कंस्ट्रक्शन के काम आ रहा है. आप इससे घर बना सकते हैं. बांस की फ्लोरिंग आजकल काफी चलन में है। आप बांस के  फर्नीचर बना सकते हैं। हैंडीक्रॉफ्ट और ज्वैलरी बनाकर भी कमाई कर सकते हैं. बांस से अब साइकिलें भी बनने लगी हैं. कृषि मंत्रालय के अधिकारियों का दावा है कि सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीबीआरआई), रुड़की ने इसे कंस्ट्रक्शन के काम में लाने की मंजूरी दी है. अब शेड डालने के लिए सीमेंट की जगह बांस की सीट भी तैयार की जा रही है।

Source – CBRI

Follow us on Facebook https://www.facebook.com/khetikare/


Spread the love
  • 1K
    Shares

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *