किसान पुञों की मेहनत से आज ट्विटर पर ट्रैंड कर रहा है 'कर्जा मुक्ति पुरा दाम'


टि्वटर पर 2 घंटे छाई रही किसान कर्जा मुक्ति मुहिम।  लोक डाउन के इस दौर में लगातार कर्ज के बोझ में दबते रहे किसान नेअपनी आवाज को उठाने के लिए सोशल मीडिया की प्लेटफॉर्म का दूसरी बार सहारा लिया। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की पहल पर 6 जून शामको 4:00 बजे से लेकर 6:00 बजे तक देशभर के किसान संगठनों ने ट्विटर पर किसान कर्जा मुक्ति हेज टेक के साथ ट्वीट किया दूसरी बार ऑनलाइन और ट्विटर पर आया देश का किसान 2 घंटे तक ट्विटर पर अपने इस हेश टैंक के साथ छाया रहा |
सभी संगठन ने इसमें भाग लिया इस अभियान के साथ देशभर में एक साथ एक लाख से अधिक टियुट किए गए नई पीढ़ी के इन किसानों ने देश के पूंजी पतियों की तर्ज पर किसानों को भी कर्ज से राहत देने की मांग की है ताकि किसानों को आत्महत्याओं का सिलसिला रुक सके | सान सालों से कर्ज की चक्की में पीस रहा है और मर रहा है सरकारें बार-बार देश के पूंजीपतियों के करोड रुपए के कर्ज को राइट ऑफ कर रहे हैं जबकि देशभर के किसानों पर कुल कर्ज 6 लाख करोड रुपए का है किसान इस कर्ज के बोझ से मर रहा है और सरकारें मरे हुए किसान से भी कर्ज वसूल रही है इसके विपरीत व्यापारी कर्ज लेकर विदेशों में बस रहे हैं |
पहली बार ऐसा हुआ है कि देश भर के किसान संगठनों में एक मिलकर यह मुहिम चलाई है।   किसानों की नई पीढ़ी जागरूक हो रही है | अब बोलने वाले किसान की नई पीढ़ी जागरूक हो गई है वह अपने पूर्वजों के दर्द को समझ रही है इसी का परिणाम यह है कि दूसरी बार ट्विटर पर चलाए गए इस कर्ज माफी अभियान में देशभर से लोग जुड़े हुए हैं क्योंकि लोक डाउन के चलते किसान सड़कों पर निकलकर आंदोलन नहीं कर सकते ऐसे में अब सोशल मीडिया पर आवाज उठाई है सरकार को चाहिए कि किसानों की सुनाई करें एवं किसान को संपूर्ण कर्ज से मुक्त करें।

Ramandeep Maan नें कहा

2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए, दलवाई समिति के अनुसार, किसान की वास्तविक  धनराशि में 10.4% / वर्ष की वृद्धि होनी चाहिए, जो कि पिछले 5 वर्षों में 2.5% से कम बढ़ रही है, पूछने की दर 15% तक पहुंच गई है




 हरियाण में उत्पादन लागत न्यूनतम समर्थन मूल्य से अधिक है

RTI 2018-19

Paddy
उत्पादन की लागत = 2637 / क्विंटल
न्यूनतम समर्थन मूल्य = 1750 / क्यूटी

Wheat
उत्पादन लागत = 2074 / क्विंटल
एमएसपी = 1840 / क्यूटी

Cotton
उत्पादन लागत = 6280 / क्यूटी
एमएसपी = 5450 / क्यूटी

इसीलिए कर्जा मुक्ति पुरा दाम


अभिषेक रघुवंशी नें कहा
तब तक पूर्ण खरीद या कानून की तरह एमएसपी वितरण तंत्र की गारंटी जब तक नीचे एमएसपी व्यापार के प्रभाव में नहीं आने देता है, एमएसपी की घोषणा व्यर्थ है।

दिशा मीणा नें कहा

पंजाब देश की रोटी की टोकरी, पिछले कुछ वर्षों में किसान आत्महत्याओं के केंद्र में बदल गया है। केवल समाधान # कर्जामुक्तिपुरा_दाम है







टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां