मजदुरो की कमी का गजब समाधान निकाला किसान भाईयों ने । पेश की मिसाल

देशव्यापी कोरोना लोकडाउन की वजह से जहां समाज का हर तबका परेशान है। वहीं किसान पर लोकडाउन की दोहरी मार पडी है । जहां पहले किसान फसल के दाम और फसल बिक्री में देरी व समय पर भुगतान ना मिलने की वजह से परेशान हैं वही अगली फसल लगाने के लिए किसान भाईयों को मजदुरो की कमी खल रही है।

जैसा कि सालों से होता आया है हरियाणा और पंजाब में धान की खेती में बिहार ,बंगाल व उतर प्रदेश से आने वाले मजदुरों का महत्वपु्रण योगदान रहता है । कोरोना लोकडाउन की वजह से जहां अंतर राज्यीय आवागमन पुरी तरह बंद पडा है । मजदुर चाह कर यहां खेतों तक नहीं पहुच पा रहे।

किसानों ने पेश की मिसाल -

पंजाब के किसानो ने भाईचारे की अद्भुत मिसाल पेश की है। मजदुरो की कमी व बढी हुई मजदुरी की कीमत से परेशान किसानों ने 42 किसानों का समुह बना एक दिन में 16 एकड जमीन में धान की बिजाई कर डाली


हमारी राय -
यह खबर पढ हमें हौसला हो गया कि देश का किसान चाहे तो हर चीज संभव है । उम्मीद करते हैं कि किसान भाई एसे ही एकजुट रहें और भविष्य में आने वाली कठिनाईयों से भी एसे ही लडें। यही एकता हमारी पहचान है ।ईसी एकता से हमारी शान है।
उम्मीद करता हुं कि सारे किसान पुत्र इस संदेश को हर किसान भाई तक पहुचाएंगे। भविष्य में आपकी आवाज को जन जन तक पहुचाने में खेतीकरें.काम की पुरी टीम आपके साथ है । आप अपनी बात हमतक पहुचा सकते हैं।
Email - Mohitbooker95@gmail.com


read this also

तो इसलिए सरकार चावल पर प्रतिबंध लगा रही है !!!!

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां