Ajola Ki Kheti अजोला की खेती कैसे करें ?

Spread the love

Advertisement

Ajola Ki Kheti दोस्तो ये जो अजोला है ना ये बड़े काम की चीज है । एक तरफ जहां इसे धान की उपज बढ़ती है वहीं ये पोल्ट्री ,फिशरी और पशु चारे के काम आता है । कुछ देशों में तो लोग इसे चटनी व पकोड़े भी बनाते हैं । इससे बायोडीजल तैयार किया जाता है । यहां तक कि लोग इसे अपने घर के ड्रॉइंग रूम को सजाने के लिए भी लगाते हैं । ये पशुओं के लिए बेहद पौष्टिक आहार है । पशुओं को खिलाने से उनमें दुग्ध उत्पादन की क्षमता बढ़ती है ।

Advertisement

महोगनी की खेती एक एकड से कमाए 1 करोड रूपये

अक्सर देखा गया है कि किसान 250 ग्राम से 500 ग्राम तक की अजोला की मात्रा को अपने पशुओं को खिला देते हैं । अपने पशुओं को चारा जो भरेगा उसके साथ गाय बरसीम का साथ मिक्स करके खिला सकते है । कुछ देशों में इसे खाने के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

Ajola Ki Kheti
Ajola Ki Kheti

अजोला की खेती कहां होती है ? Ajola Ki Kheti Kaha Hoti Hai ?

अजोला हमारे देश में लगभग हर क्षेत्र में लगाया जा सकता है । शर्त बस इतनी है कि वहां पर पानी की उपलब्धता होनी चाहिए ।

अजोला की खेती किस मौसम में होती है ? Weather Conditions for Ajola Ki Kheti

यह पूरे साल फलता फूलता भी है लेकिन सर्दियों के मौसम में इसका उत्पादन थोड़ा सा कम हो जाता है । पट्टी से 34 डिग्री सेंटीग्रेड तक जाए अलग चमक रूट होता है लेकिन हमारे संसाधन है बारहों महीने हम अरुणा उगाते हैं लेकिन यह कि जाड़े के मौसम में अजोला की ग्रोथ कम हो जाता है

अजोला की कितनी प्रजातियां होती हैं ? Types Of Ajola

अजोला की छह प्रजातियां होती हैं जो कि अलग अलग क्षेत्र व जलवायु के हिसाब से लगाई जा सकती हैं ।अगर आप दक्षिण भारत की तरह जाइए क्वान अजोला बिना डालों को उगाते हैं और कश्मीर वगैरह में अजोला फिल क्लाउड्स पाया जाता है पर अजोला उभरा भी है । कलकत्ता जैसे जगहों में अजोला कैरोलिना कैरोलीन ज्वॉय यूज करते हैं ।

अजोला की खेती कैसे करें ? Ajola Ki Kheti Kaise Kare ?

अजोला लगाने के लिए खेत में या जहां भी आपके पास भूमि उपलब्ध है वहां 5 गुणा 1 गुणा 1 मीटर का गड्ढा खोदे यानी पांच मीटर लंबा एक मीटर गहरा और एक मीटर चौड़ा गड्ढा खोदें और उसमें पॉलीथिन बिछाकर अजोला लगाएं । आप इसे कंक्रीट का गड्ढा बना करके भी लगा सकते हैं इसे कैसे लगाया जाये इसकी ट्रेनिंग लेने के लिए या फिर डेमोस्ट्रेशन देखने के लिए कृषि विज्ञान केन्द्र या फिर कृषि विश्वविद्यालयों से संपर्क कर सकते हैं ।

If You Like This information Follow us on

Facebook https://www.facebook.com/khetikare/

Instagram https://www.instagram.com/khetikare/?hl=en

Twitter https://twitter.com/KareKheti


Spread the love

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *