Grafting Technique अब एक ही पौधे पर उगेगे आलु और टमाटर

Spread the love
  • 132
    Shares

Advertisement

Grafting Technique in india सोचिए कैसा हो कि अगर किसानों को एक ही पौधे से दो सब्जियों की पैदावार मिलने लगे। सुनने में भले ही थोड़ा अटपटा लगे मगर जिस तेजी से कृषि तकनीकी और वैज्ञानिक तरक्की कर रहें उस लिहाज से अब ऐसा कर पाना नामुमकिन नहीं । दरअसल अब आलू और टमाटर की पैदावार किसान एक ही पौधे से हासिल कर सकते हैं ।

Advertisement

Farm Machinary Bank Yojana ट्रैक्टर समेत सभी खेती मशीनों पर 80 फीसदी की सब्सिडी

आपको बतादें की कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर के सब्जी विज्ञान विंग ने ग्राफ्टिंग की मदद से इस प्रयोग को संभव कर पाया है । दरअसल हाल ही में सुंदरनगर विज्ञान केंद्र में किसी भी सुविधा से पालमपुर के सब्जी विज्ञान विंग ने सब्जियों में ग्राफ्टिंग तकनीक पर एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के दौरान इसकी जानकारी दी । हालांकि इंडियन हार्टिकल्चर मैगजीन में ये शोध 2015 में ही प्रकाशित किया जा चुका है । इस पौधे का पोटेटो नाम दिया गया है । इस पौधे में आलू जड़ से उगेगा जबकि टमाटर बेल पर उगेगा ।

Grafting Technique in india
Grafting Technique in india

अब जल्द ही इस खोज को मंडी में किसानों तक पहुंचाने का काम शुरू किया जा रहा है ताकि आलू और टमाटर की अधिक पैदावार वाले क्षेत्रों में इसकी ग्राफ्टिंग तकनीक से किसान मालामाल हो सकें । आपको बतादें की अभी ये तकनीक जापान कोरिया स्पेन इटली जैसे देशों में ही मशहूर है तो वहीं भारत का पालमपुर किसी विश्वविद्यालय इस तकनीक को लेकर लोकप्रिय बनाने के लिए लगातार कोशिशें कर रहा है ।

Grafting Technique in india

If You Like This information Follow us on

Facebook https://www.facebook.com/khetikare/

Instagram https://www.instagram.com/khetikare/?hl=en

Twitter https://twitter.com/KareKheti


Spread the love
  • 132
    Shares

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *