Kisan rally pipli पीपली कुरुक्षेत्र में किसानों पर क्यु हुआ लाठीचार्ज , अभी भी लागू है धारा 144

Spread the love
  • 8
    Shares

Advertisement

Kisan rally pipli – हरियाणा के पीपली कुरुक्षेत्र में केंद्र सरकार के खेती से संबंधित तीन अध्यादेश के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों पर आज लाठीचार्ज हुआ है। भारतीय किसान यूनियन ने आज पिपली अनाज मंडी में किसान बचाओ मंडी बचाओ महारैली का ऐलान किया था । धरने के मद्देनजर प्रशासन ने इस रैली पर रोक लगा दी थी लेकिन बावजूद इसके बड़ी संख्या में किसान जुटने लगे हैं और इन्हें रोकने की कोशिश की गई । प्रदर्शनकारी किसान पुलिस से भिड़ गए और उसके बाद पुलिस ने इन पर लाठीचार्ज किया ।

Advertisement

प्रोटेस्ट बहुत बड़ा था क्योंकि कई दिनों से भाकियु इसकी अनाउंसमेंट कर रही थी । भारतीय किसान यूनियन और उनकी जितनी सहयोगी ग्रुप्स ने कई दिनों पहले यह अनाउंस किया था कि जो तीन अध्यादेश केंद्र ने पास किए हैं उसके खिलाफ हम प्रोटेस्ट करेंगे ।

यह कोई पहला प्रोटेस्ट नहीं है। इससे पहले भी कई तरह के प्रोटेस्ट हरियाणा और पंजाब में हुए है। किसानों ने पिछले दिनों अध्यादेशों के विरोध में ट्रैक्टर मार्च निकाला था।

आज की प्रोटेस्ट में हरियाणा के हर जिले से किसान कुरुक्षेत्र आने वाले थे और पिछले दो दिनों पहले होम मिनिस्टर ने कोरोना का हवाला देकर कहा था कि आप भीड़ इकट्ठी ना करें और वहीं प्रदेश के कृषि मंत्री ने सीधी सीधी अपील की थी कि जो अध्यादेश पास किए गए हैं उसमें मंडी सिस्टम को खत्म करने की
एमएसपी को खत्म करने की कोई बात नहीं की गई है और किसानों को बरगलाया जा रहा ।

kisan rally pipli
Kisan rally pipli Kisan rally pipli Kisan rally pipli Kisan rally pipli

लेकिन सुबह से हर जिले के किसान जो कुरुक्षेत्र आने की कोशिश कर रहे थे, उन्हें अपने ही जिले में या तो राउंडअप किया गया या प्रिवेंटिव डिटेंशन में लिया गया और जो किसान कुरुक्षेत्र पहुंच चुके थे उनको पीपली मंडी जहां पर ये प्रोटेस्ट होना है वहां पर उस जगह पर पहुंचने से पहले ही हाईवे पर रोक दिया गया। बैरिकेडिंग की गई ।

फिर भी अगर किसान जबरदस्ती जाना चाह रहे थे तो उनके ऊपर हल्की फुल्की लाठीचार्ज भी की गई और अब वो एनएच वन हाइवे को जाम करके बैठे हुए हैं । किसानों की दलील यह है पिछले ही महीने हरियाणा को भाजपा का नया प्रदेश अध्यक्ष मिला था उसको ले के ख़ुद एक बड़ा प्रोग्राम बीजेपी ने किया था जिसमें गैदरिंग भी थी और मुख्यमंत्री भी शामिल थे तो किसान अब कह रहे हैं कि आप पेंडेमिक एक्ट का बहाना लेकर या कोरोना का बहाना लेकर हमें इस प्रोटेस्ट को करने की इजाजत नहीं दे रहे ।

किसानों का कहना है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य जो है वो खत्म हो जाएगा तो उनको उनकी कीमत नहीं मिलेगी और जो व्यापारी हैं वो मनमानी कीमत वसूलेंगे जिससे उन्हें नुकसान होगा ।

Also Read This पशु खरीदने को सरकार देगी 1 लाख 60 हजार रूपये । यहां करे आवेदन

Kisan rally pipli

If You Like This information Follow us on

Facebook https://www.facebook.com/khetikare/

Instagram https://www.instagram.com/khetikare/?hl=en

Twitter https://twitter.com/KareKheti


Spread the love
  • 8
    Shares

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *